संयुक्त राष्ट्र संघ क्या है, इसकी जानकारी इतिहास कार्य और उद्देश्य

संयुक्त राष्ट्र संघ (United Nations organisation) जो एक विश्व के 194 से ज्यादा देशो का अन्तर्राष्ट्रीय संघटन है, जो की विश्व की व्यवस्था को सुचारु रूप से चलाने के लिए 1945 मे गठित किया था, जो की अंतरराष्ट्रीय कानून, आपसी सहयोग, अन्तर्राष्ट्रीय व्यापार,  अन्तर्राष्ट्रीय सुरक्षा, आर्थिक विकास, सामाजिक प्रगति, मानव अधिकार और विश्व शांति के लिए कार्य करता है, जिसके अंदर सभी विकसित और विकासशील राष्ट्र सभी एक साथ विकास कर सके।

संयुक्त राष्ट्र संघ जिसे अँग्रेजी मे United Nations organisation कहते है, और शॉर्ट मे इसे UNO के नाम से भी जानते है, तो चलिये इस आर्टिकल मे संयुक्त राष्ट्र संघ क्या है, इसकी पूरी जानकारी, इतिहास और इसके उद्देश्य, कार्य क्या है, सभी जानकारी को विस्तार से जानते है।

संयुक्त राष्ट्र संघ क्या है

United Nations organisation in Hindi

United Nations organisation in Hindiसंयुक्त राष्ट्र संघ की स्थापना ­­– द्वितीय महायुद्ध की विनाश लीला ने बड़े – बड़े राष्ट्रो को इस निष्कर्ष पर पहुचा दिया था कि अगले महायुद्ध के बाद मानव – सभ्यता केवल इतिहास की बात ही रह जायेगी| दूसरे शब्दो मे, संसार अगले युद्ध में समाप्त हो जायेगा | अत: सभी राष्ट इस भावी विनाश से बचाव का रास्ता ढूड़ने लगे  लीफ ऑफ नेशन्स अपने उधेयश्यों मे बुरी तरह असफल हो चुका था इसीलिए अब किसी ऐसी संस्था की स्थापना पर विचार होने लगा जो लीग ऑफ नेशन्स से अधिक शक्तिशाली हो |

संसार के राजनीतिज्ञो की कल्पना को साकार रूप मिला संयुक्त राष्ट के निर्माण मे ब्रिटेन के प्रधानमंत्री श्री चचिर्ल और अमेरिका के प्रेसिंडेंट रूज़वेल्ट ने अटलांटिक चार्टर पर हस्ताक्षर कर विश्व के राष्ट्रों के मध्य शान्ति –स्थापना की सयुक्त रूप से इच्छा व्यक्त की | इसके दो वर्ष सन 1943 मे ब्रिटेन, अमेरिका, रूस, फ्रांस, चीन एंव विश्व के अन्य राष्ट्रो के विदेश मंत्री मास्को मे एकत्रित हुए | इस सभा मे भी विश्व शान्ति की स्थापना पर बल दिया।

इसके पूर्व सन 1942 मे ही 25 राष्ट्रों ने चचिर्ल और रूज़वेल्ट के अटलांटिक चार्टर पर विश्वास व्यक्त करते हुए संयुक्त राष्ट्र संघ के घोषणा-पत्र पर हस्ताक्षर कर दिये थे | सन 1944 मे अंबर्टन ओक्स नामक स्थान पर ब्रिटेन, रूस, चीन और अमेरिका के प्रतिनिघियों ने मिलकर संयुक्त राष्ट्र संघ की रूपरेखा तैयार की |

25 अप्रैल , 1944 को सेन –फ्रांसिस्को मे एक अधिवेशन हुआ जिसमे विश्व के प्रमुख राष्ट्रों ने भाग लिया | 26 जून ,1945 को 51 देशो ने संयुक्त राष्ट्र संघ की सदस्यता की घोषणा की | 24 अकतूबर, 1945 का दिन विश्व  इतिहास मे एक महत्वपूर्ण घटना का दिन माना जाता है, क्यूकि अधिकृत रूप से इसी दिन संयुक्त राष्ट्र की स्थापना की घोषणा की गयी थी | इसका मुख्यालय न्यूयार्क मे हैं।

संयुक्त राष्ट्र संघ का घोषणा पत्र

Declaration of the United Nations organisation in Hindi

संयुक्त राष्ट्र संघ का घोषणा – पत्र 19 अध्यायों मे विभाजित हैं जिनमे 111 अनुच्छेद हैं | इसमे संघ के अंगो के संगठन , उनके कार्य , प्रस्तावना , मूलभूत उधेशयों और सिद्धांतों आदि का विस्तृत उल्लेख हैं |

राष्ट्रीयता, अंतराष्ट्रीयता और संयुक्त राष्ट्र संघ

संयुक्त राष्ट्र संघ के अंग —  संयुक्त राष्ट्र के निम्नलिखित 6 प्रमुख अंग हैं |-

(1) साधारण सभा या महासभा ,

(2) सुरक्षा –परिषद ,

(3) आर्थिक व सामाजिक परिषद ,

(4) संरक्षण या न्यास परिषद ,

(5) अंतराष्ट्रीय न्यायालय और (6) सचिवालय

संयुक्त राष्ट्र संघ के उद्देश्य

Objectives of the United Nations organisation in Hindi

संयुक्त राष्ट्र संघ के उद्देश्य निम्नलिखित हैं :- 

मानव जाति की सन्तति को युद्ध की विभीषिका से बचाने के लिए अंतराष्ट्रीय शान्ति एंव सुरक्षा को स्थायी रूप प्रदान करना और इस उद्देश्य की पूर्ति हेतु शान्ति – विरोधी तत्वो को दंडित करना |

समान अधिकार तथा आत्म –निर्णय के सिद्धांतो को मान्यता देते हुए इन सिद्धांतो के आधार पर विभिन्न राष्ट्रों के मध्य संबन्धो एंव सहयोग मे वृद्धि करने के लिए उचित उपायो को अपनाना |

विश्व की आथिर्क ,सामाजिक ,संस्कृतिक आदि अन्य मानवीय समस्याओ के समाधान हेतु अंतराष्ट्रीय सहयोग प्राप्त करना |

शान्ति –पूर्ण उपायो से अंतराष्ट्रीय विवादो का निर्णय करना |

इन समान्य उद्देश्यों की पूर्ति मे लगे हुये विभिन्न राष्ट्रों के कायों मे समन्वयकारी केंद्र के रूप मे कार्य करना |

संयुक्त राष्ट्र संघ के आधारभूत सिद्धांत

Basic Principles of the United Nations organisation in Hindi

संघ के  घोषणा –पत्र के अध्याय मे उल्लिखित संघ के आधारभूत – सिद्धांत इस प्रकार हैं –

  • संघ के सभी सदस्य –राष्ट प्रभुसत्ता –सम्पन्न और समान हैं |
  • संघ के सभी सदस्य –राष्ट,संघ के घोषणा पत्र मे उल्लिखित अपने कर्तव्यो एंव दायित्व का निर्वाह निष्ठापूर्वक एंव पूरी ईमानदारी से करेंगे |
  • संघ के सभी सदस्य –राष्ट, अंतराष्ट्रीय विवादो का निपटारा शान्ति-पूर्ण उपायो से करेंगे जिसमे विश्व –शान्ति,सुरक्षा एंव न्याय की सुरक्षा हो सके |
  • संघ के सभी सदस्य –राष्ट,अपने अंतराष्ट्रीय संबंधो के संचालन मे किसी राज्य की अखंडता तथा राजनीतिक स्वतंत्त्रा के विरुद्ध धमकी अथवा शक्ति का प्रयोग नहीं करेंगे|
  • संघ किसी सदस्य-राष्ट्र के आंतरिक विषयो मे हस्तक्षेप नहीं करेंगे |

एसडीओ ऑफिसर (SDO Officer) कैसे बने? SDO Officer Kaise Bane

परीक्षा मे टॉप कैसे करे टापर कैसे बने Class Top Kaise Kare

तो इस आर्टिकल मे संयुक्त राष्ट्र संघ क्या है, इसकी जानकारी इतिहास कार्य और उद्देश्य क्या है, पूरी जानकारी दिया गया है, तो आप संयुक्त राष्ट्र संघ के इस जानकारी को लोगो के साथ शेयर करे, और यह आर्टिकल कैसा लगा, कमेंट मे भी जरूर बताए॥

इन आर्टिकल को भी पढे :-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *