HomePhysicsविकिरण क्या होता है परिभाषा और प्रकार | Radiation in Hindi

विकिरण क्या होता है परिभाषा और प्रकार | Radiation in Hindi

आप सभी लोग हमारे Youtube चैनल eClubStudy को Subscribe जरूर करे

आज के इस पोस्ट मे विकिरण क्या होता है परिभाषा और प्रकार Radiation in Hindi के बारे मे जानेगे।

विकिरण क्या है

Radiation in Hindi

Radiation in Hindiताप ऊर्जा के किसी रिक्त स्थान में संचार को विकिरण कहते है। परम शून्य के ऊपर के तापमान वाली सभी वस्तुएं उनकी प्रवाहकता गुणा यदि वे कोई काले रंग की वस्तु हों तो उनमें से ऊर्जा के विकिरित होने की दर के बराबर ऊर्जा का विकिरण करती हैं। विकिरण के लिये किसी माध्यम की जरूरत नहीं है क्यौंकि इसका संचार विद्युतचुम्बकीय तरंगों द्वारा होता है; विकिरण पूर्ण निर्वात में भी कार्य करता है। सूर्य की ऊर्जा पृथ्वी को गर्म करने के पहले अंतरिक्ष के निर्वात में से गुजरती है।

विकिरण की परिभाषा

Definition of radiation in Hindi

विकिरण ऊर्जा का वह प्रकार है जो अंतराल मे यात्रा करते समय तरंग जैसा व्यवहार करता है।

इस परिभाषा के अंतर्गत विकिरण मे साधारण दृश्य प्रकाश किरणे, अवरक्त प्रकाश(टी वी के रीमोट से उत्सर्जित) किरणे, रेडीयो तरंग(मोबाईल, रेडीयो, टीवी द्वारा प्रयुक्त), पराबैंगनी किरणे, एक्स रे आ जाती है।

विकिरण लहरों, किरणों या कणों के रूप में ऊर्जा का उत्सर्जन और प्रसार है।

विकिरण के प्रकार

Type of Radiation in Hindi

विकिरण के तीन मुख्य प्रकार हैं:

गैर-आयनीकरण विकिरण (Non-ionizing radiation)

यह विद्युत चुम्बकीय स्पेक्ट्रम के निचले-ऊर्जा क्षेत्र से ऊर्जा की रिहाई है। इसमें प्रकाश, रेडियो, माइक्रोवेव , इन्फ्रारेड (गर्मी), और पराबैंगनी प्रकाश शामिल हैं,

आप सभी लोग हमारे Youtube चैनल eClubStudy को Subscribe जरूर करे

आयनीकरण विकिरण (Ionizing radiation)

यह एक आयन बनाने, परमाणु कक्षीय से एक इलेक्ट्रॉन को हटाने के लिए पर्याप्त ऊर्जा के साथ विकिरण है। Ionizing विकिरण में एक्स-रे, गामा किरण, अल्फा कण, और बीटा कण शामिल हैं।

न्यूट्रॉन विकिरण (Neutron radiation)

न्यूट्रॉन परमाणु नाभिक में पाए गए कण होते हैं। जब वे नाभिक से टूट जाते हैं, तो उनके पास ऊर्जा होती है और विकिरण के रूप में कार्य करती है।

आप सभी लोग हमारे Youtube चैनल eClubStudy को Subscribe जरूर करे

विकिरण के उदाहरण

Examples of radiation in Hindi

विकिरण में विद्युत चुम्बकीय स्पेक्ट्रम के किसी भी हिस्से का उत्सर्जन शामिल है, इसके अलावा इसमें कणों की रिहाई भी शामिल है।

  • एक ज्वलनशील मोमबत्ती गर्मी और प्रकाश के रूप में विकिरण उत्सर्जित करता है।
  • सूर्य प्रकाश, गर्मी, और कणों के रूप में विकिरण उत्सर्जित करता है।
  • यूरेनियम -238 थोरियम -234 में क्षीणन अल्फा कणों के रूप में विकिरण उत्सर्जित करता है।
  • फोटॉन के रूप में एक ऊर्जा राज्य से कम राज्य उत्सर्ज विकिरण तक गिरने वाले इलेक्ट्रॉन।

विकिरण को इस प्रकार से समझ सकते है –

  • सभी पिंडों की परावर्तकता और प्रवाहकता दोनो ही तरंगदैर्ध्य पर निर्भर करती हैं। प्लैंक्स लॉ ऑफ ब्लैक-बॉडी रेडियेशन के अनुसार तापमान तीव्रता की सीमा तक विद्युतचुम्बकीय विकिरण के तरंगदैर्ध्य के वितरण को निश्चित करता है।
  • किसी भी पिंड के लिये परावर्तकता भीतर आ रहे विद्युतचुम्बकीय विकिरण के तरंगदैर्ध्य के वितरण और इसलिये विकिरण के स्रोत के तापमान पर निर्भर करती है।
  • प्रवाहकता तरंगदैर्ध्य के वितरण पर और इसलिये पिंड के तापमान पर निर्भर करती है। उदाहरण के लिए ताज़ी बर्फ जो दिखाई देन् वाले प्रकाश के लिये उच्च परावर्ती होती है (लगभग 0.90 परावर्तकता), करीब 0.5 माइक्रोमीटर के शीर्ष ऊर्जा तरंगदैर्ध्य वाले सूर्यप्रकाश को परावर्तित करने के कारण सफेद दिखती है। परंतु करीब -5 °C तापमान और 12 माइक्रोमीटर के शीर्ष ऊर्जा तरंगदैर्ध्य पर उसकी प्रवाहकता 0.99 होती है।
  • गैसें तरंगदैर्ध्य के विशिष्ट प्रतिमानों में, जो हर गैस के लिये भिन्न होते हैं, ऊर्जा का अवशोषण और उत्सर्जन करती हैं।
  • दिखने वाला प्रकाश विद्युतचुम्बकीय विकिरण का एक और प्रकार है जो इन्फ्रारेड विकिरण की अपेक्षा कम तरंगदैर्ध्य (और इसलिये अधिक आवृति) वाला होता है। दिखने वाले प्रकाश और परम्परागत तापमानों की वस्तुओं से होने वाले विकिरण में आवृति और तरंगदैर्ध्य में करीब 20 के गुणक की भिन्नता होती है; दोनो प्रकार के उत्सर्जन केवल विद्युतचुम्बकीय विकिरण के विभिन्न “रंग” होते है।

विकिरण से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्य

Some important facts related to radiation in Hindi

  • विकिरण प्राकृतिक है।
  • सामान्य तौर पर पाये जाने वाले विकिरणो मे मे केवल पराबैंगनी विकिरण हानिकारक होता है, अतः तेज धूप मे शरीर/आंखो को ढंककर रखें। परबैगनी किरणो को ओजोन परत रोक लेती है लेकिन पृथ्वी के कुछ क्षेत्रो मे ओजोन परत मे छेद है, इन क्षेत्रो मे यह सावधानी आवश्यक है। गहरे रंग के व्यक्तियों को प्रकृति ने इससे सुरक्षा के लिये प्राकृतिक कवच दिया है।
  • अन्य विकिरणों मे एक्स किरण अत्यधिक मात्रा मे हानीकारक है।
  • अल्फा (α) और बीटा(β) विकिरण मे ज्यादा मात्रा मे देर तक रहना हानिकारक है, लेकिन यह भी दुर्लभ है।
  • गामा(γ) विकिरण दुर्लभ है लेकिन अत्यधिक हानीकारक है।
  • मोबाइल से निकलने वाली रेडीयो तरंगे हानीकारक नही है।(एक साधारण विद्युत बल्ब भी मोबाइल से ज्यादा हानिकारक हो सकता है क्योंकि वह दृश्य प्रकाश से ज्यादा आवृत्ति वाली पराबैंगनी किरणे उत्सर्जित कर सकता है।)

विकिरण और रेडियोधर्मिता के बीच अंतर

Difference between radiation and radioactivity in Hindi

  • विकिरण ऊर्जा की रिहाई है, चाहे वह तरंगों या कणों का रूप लेता है।
  • रेडियोधर्मिता एक परमाणु नाभिक के क्षय या विभाजन को संदर्भित करता है। एक रेडियोधर्मी सामग्री विकिरण जारी करती है जब यह क्षय हो जाती है। क्षय के उदाहरणों में अल्फा क्षय, बीटा क्षय, गामा क्षय, न्यूट्रॉन रिलीज, और सहज विखंडन शामिल हैं।
  • सभी रेडियोधर्मी आइसोटोप विकिरण जारी करते हैं, लेकिन सभी विकिरण रेडियोधर्मिता से नहीं आते हैं।

तो आपको यह पोस्ट विकिरण क्या होता है परिभाषा और प्रकार (Radiation in Hindi) कैसा लगा कमेंट मे जरूर बताए और इस पोस्ट को लोगो के साथ शेयर भी जरूर करे…

4.9/5 - (7 votes)
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

close button