HomeScienceउर्जा के स्रोत क्या है Sources of Energy in Hindi

उर्जा के स्रोत क्या है Sources of Energy in Hindi

आप सभी लोग हमारे Youtube चैनल eClubStudy को Subscribe जरूर करे

अगर आप 10 वी विज्ञान (10th Science) के छात्र है तो आज के इस पोस्ट मे कक्षा 10 विज्ञान NCERT बुक के जरिये जानेगे की उर्जा के स्रोत क्या है Sources of Energy in Hindi क्या है.

उर्जा के स्रोत क्या है (Sources of Energy in Hindi)

Sources of Energy in Hindiऊर्जा के स्रोत वे होते हैं जिनके द्वारा घरेलू तथा औद्योगिक गतिविधियों को पूरा किया जाता है। किसी भी देश के औद्योगिकीकरण में कारखानों को चलाने के लिए किसी न किसी चालक या शक्ति के साधन की आवश्यकता होती है। वे पदार्थ जिनसे मशीनों को चलाने के लिए शक्ति प्राप्त होती है वह ऊर्जा के स्रोत कहलाते हैं । प्राचीन काल से ही मानव ने शक्ति के साधनों को खोजने का कार्य जारी रखा है। सर्वप्रथम वे छोटे-मोटे कार्यों के लिए लकड़ी के कोयले का प्रयोग करते थे, बाद में उसने पत्थर के कोयले, खनिज तेल, वायुजल तथा जल विद्युत द्वारा उद्योगों का संचालन करना भी सीख लिया।

भारत के शक्ति स्रोतों का अभी पूर्ण रूप से विकास नहीं हुआ है। भारत अपनी आवश्यकता के अनुसार खनिज तेल और जल विद्युत शक्ति के उत्पादन की मात्रा को बढ़ाता रहता है, किंतु विश्व के उन्नतशील देशों की तुलना में भारत में शक्ति का उत्पादन अभी कम है। वे संसाधन जो पृथ्वी के अंदर से प्राप्त होते हैं उनकी मात्रा सीमित होती है इसलिए उनका उपयोग में दिव्यता के साथ करना चाहिए। इन पदार्थों को सामान्यतः ऊर्जा के पारंपरिक स्रोत कहते हैं आज हम नीचे ऊर्जा के इन्हीं नवीकरणीय तथा  अनवीकरणीय स्रोतों के बारे में जानेंगे।

ऊर्जा के स्रोत के प्रकार (type of energy source in Hindi)

आपने पढ़ा होगा कि ऊर्जा के विभिन्न स्रोतों में कुछ स्रोत ऐसे होते हैं जो सीमित अवधि के लिए होते हैं और समाप्त हो जाते हैं लेकिन कुछ स्त्रोत ऐसे होते हैं जो समाप्त नहीं होते हैं। कोयला और पेट्रोलियम तथा अन्य खनिज प्रकृति में धीमी गति से निर्मित होते हैं। कोयला पेट्रोलियम आदि जिनका प्रयोग हम वर्तमान समय में कर रहे हैं यह अरबों वर्षों पूर्व अपघटित हो रहे पेड़ों तथा पशु व छोटे पक्षियों के अवशेषों से निर्मित होते हैं। जबकि पवन प्रवाहित जल सूर्य का प्रकाश ज्वार भाटा इत्यादि ऐसे ऊर्जा के स्रोत हैं जो कभी समाप्त नहीं हो सकते हैं। ऊर्जा के स्रोतों को हम दो भागों में वर्गीकृत कर सकते हैं

  1. ऊर्जा के नवीकरणीय स्रोत
  2. ऊर्जा के अनवीकरणीय स्रोत

ऊर्जा के नवीकरणीय स्रोत (Renewable Sources of Energy)

ऊर्जा के स्रोत जो प्रकृति में लगातार उत्पन्न होते रहते हैं और मानवीय गतिविधियों द्वारा प्रायः समाप्त नहीं होते हैं ऊर्जा के नवीकरणीय स्रोत कहलाते हैं। इन स्रोतों को ऊर्जा के अनिःशेष स्रोत भी कहते हैं। उदाहरण पवन, प्रवाहित जल, सूर्य का प्रकाश, ज्वार भाटा, भूतापीय ऊर्जा तथा जीव भार ऊर्जा के नवीकरणीय स्रोत हैं। यह स्रोत है जो कभी नष्ट नहीं हो सकते हैं चाहे मनुष्य इन्हें कितना ही इस्तेमाल क्यों ना कर ले।

ऊर्जा के अनवीकरणीय स्रोत (Non-renewable Sources of Energy in Hindi)

ऊर्जा के स्रोत जो उपयोग के पश्चात परिपूर्ण नहीं होते हैं और निश्चित अवधि के पश्चात समाप्त हो जाते हैं ऊर्जा के अनवीकरणीय स्रोत कहलाते हैं। ऊर्जा के इन अनवीकरणीय स्रोतों को निःशेष स्रोत भी कहा जाता है। उदाहरण के लिए पेट्रोलियम, कोयला, प्राकृतिक गैस, तथा यूरेनियम ऊर्जा के कुछ अनवीकरणीय स्रोत हैं।

उर्जा के स्रोत क्या है इससे जुड़े महत्वपूर्ण प्रश्न और उनके उत्तर

(Sources of Energy Question and Answer in Hindi)

NCERT Solutions for Class 10 Science Chapter Sources of Energy Question and Answer in Hindi उर्जा के स्रोत क्या है इससे जुड़े महत्वपूर्ण प्रश्न और उनके उत्तर Sources of Energy Question and Answer को जानते है

आप सभी लोग हमारे Youtube चैनल eClubStudy को Subscribe जरूर करे

प्रश्न 1: उर्जा का उतम स्रोत किसे कहते है ?
उत्तर –

उर्जा का उतम स्रोत वह है जो –

  1. प्रति एकांक आयतन अथवा प्रति एकांक द्रव्यमान अधिक कार्य करे |
  2. जो आसानी से उपलब्ध हो |
  3. भंडारण तथा परिवहन में आसान हो |
  4. वह सस्ता हो |
  5. जलने पर प्रदुषण न फैलाए |

प्रश्न 2: उतम ईंधन किसे कहते है ?
उत्तर –

उतम ईंधन में निम्नलिखित गुण होने चाहिए –

आप सभी लोग हमारे Youtube चैनल eClubStudy को Subscribe जरूर करे
  1. दहन के बाद प्रति एकांक द्रव्यमान से अधिक ऊष्मा मुक्त हो |
  2. यह आसानी से, सस्ती दर पर उपलब्ध हो |
  3. जलने पर अत्याधिक धुआं उत्पन्न न करे |
  4. इसका ज्वलन ताप उपयुक्त हो तथा उष्मीयमान अधिक हो |

प्रश्न 3:  यदि आप अपने भोजन को गर्म करने के लिए किसी भी उर्जा स्रोत का उपयोग कर सकते है , तो आप किसका उपयोग करेंगे और क्यों ?
उत्तर –
हम LPG गैस या विद्द्युतीय उपकरण का उपयोग करेंगे क्योंकि –

  1. इससे अधिक ऊष्मा उत्पन्न होती है |
  2. इसके दहन से धुआं नहीं निकलता है |
  3. यह आसानी से उपलब्ध है तथा इसका उपयोग सुगमतापूर्वक किसी भी समय किया जा सकता है |
  4. यह सस्ता है तथा इसका भंडारण तथा परिवहन आसानी से किया जा सकता है |
  5. इससे वांछित ऊर्जा आवश्यकता अनुसार प्राप्त कर सकते है |

प्रश्न 4: जीवाश्मी ईंधन की क्या हानियाँ है ?
उत्तर –

जीवाश्मी ईंधन की निम्नलिखित हानियाँ है –

  1. जीवाश्मी ईंधन को बनने में कड़ोरो वर्ष लागतें है तथा इनके भंडार सीमित है |
  2. जीवाश्मी ईंधन ऊर्जा के अनवीकरणीय स्रोत है |
  3. जीवाश्मी ईंधन जलाने से वायु प्रदुषण होता है |
  4. वायु में कार्बन की मात्र बढ़ने के कारण ग्रीन हाउस प्रभाव होता है |

प्रश्न 5: हम ऊर्जा के वैकल्पिक स्रोतों कि ओर क्यों ध्यान दे रहे है ?
उत्तर –

हम जानते है कि जीवाश्मी ईंधन ऊर्जा के अनवीकरणीय स्रोत है | अतः इन्हें बचाने कि आवश्यकता है | पृथ्वी के अंदर कोयले , पेट्रोलियम , प्राकृतिक गैस आदि सीमित मात्रा में मौजूद है | यदि हम इनका प्रयोग इसी प्रकार करते रहे तो ये शीघ्र ही समाप्त हो जाएंगे | अतः हमें ऊर्जा के वैकल्पिक स्रोतों कि ओर ध्यान देना चाहिए |

प्रश्न 6: सौर कूकर के लिए कौन सा दर्पण – अवतल , उत्तल , अथवा समतल – सर्वाधिक उपयुक्त है ?
उत्तर –

सौर कूकर के लिए सर्वाधिक उपयुक्त दर्पण अवतल दर्पण है , क्योंकि यह एक अभिसारी दर्पण है | जो सूर्य कि किरणों को एक बिन्दु पर फोकसित करता है ,जिसके कारण शीघ्र ही इसका ताप और बढ़ जाता है |

प्रश्न 7: महासागरो से प्राप्त होने वाली ऊर्जा कि क्या सीमाए है ?
उत्तर – 

महासागरो से प्राप्त होने वाली ऊर्जा कि निम्न सीमाए है –

  1. तरंग ऊर्जा के व्यापारिक उपयोग के लिए तरंगो का अत्यंत प्रबल होना आवश्यक है |
  2. ज्वार भाटे के समय जल के स्तर चढ़ने  तथा गिराने से ज्वारीय ऊर्जा प्राप्त होती है | बाँध के द्वार पर स्थित टरबाइन ज्वारीय ऊर्जा को विद्युत् ऊर्जा में बदल देते है | परन्तु ये बांध केवल कुछ ही क्षेत्रो में सफल है |
  3. ऊर्जा संयत्रों के निर्माण कि लागत बहुत अधिक होती है तथा ऊर्जा का उत्पादन कम होता है |

प्रश्न 8: भूतापीय ऊर्जा क्या है ?
उत्तर –
जब भूमिगत जल तप्त स्थलों के संपर्क में आता है तो भाप उत्पन्न होती है | जब यह भाप चट्टानों के बीच फंस जाती हैं तो इसका दाब बढ़ जाता है | उच्च दाब पर यह भाप पाइपों द्वारा निकाल ली जाती है, यह भाप विद्युत जनरेटर की टरबाइन को घुमती है तथा विद्युत उत्पन्न की जाती है | इन तप्त स्थलों से प्राप्त होने वाली ऊर्जा भूतापीय ऊर्जा कहलाती है |

प्रश्न 9: नाभिकीय  ऊर्जा का क्या महत्व है ?
उत्तर –

नाभिकीय  ऊर्जा से उत्पन्न  ऊर्जा को नाभिकीय  ऊर्जा  कहते है | इस प्रकिया के  द्वारा  अत्याधिक मात्रा में  ऊर्जा मुक्त होती है | इस  ऊर्जा का उपयोग भाप बनाकर  विद्युत्  उत्पन्न करने में किया जाता है |

प्रश्न 10:  क्या कोई  ऊर्जा  स्रोत प्रदुषण मुक्त हो सकता है ? क्यों अथवा क्यों नही ?
उत्तर –

नही , ऐसा कोई  ऊर्जा  का स्रोत नही है जो प्रदुषण मुक्त हो |  सौर सेल हालाँकि प्रदुषण मुक्त है परन्तु उस युक्ति को जुटाने में पर्यावरण क्षति ग्रस्त हो सकता है |

प्रश्न 11: रॉकेट ईंधन के रूप में हाइड्रोजन का उपयोग किया जा रहा है ? क्या आप इसे CNG की तुलना मे अधिक स्वच्छ ईंधन मानते है ? क्यों अथवा क्यों नहीं ?
उत्तर –

हाइड्रोजन एक स्वच्छ ईंधन है क्योंकि ये CO2 उत्पन्न नहीं करता बल्कि यह दहन होने पर जल उत्पन्न  करता  है अतः प्रदुषण नहीं फैलता है |

प्रश्न 12: ऐसे दो ऊर्जा स्रोतों के नाम लिखिए जिन्हे आप नवीकरणीय मानते है | अपने चयन के लिए तर्क दीजिए |
उत्तर-
(a) पवन ऊर्जा :

  1. पवनों से ऊर्जा उन्हीँ जगहों पर पाई जाती है जहाँ वर्षा के समय तेज गति से पवने चलती हो |
  2. टरबाइनो कि गति के लिए पवनो की न्यूनतम चाल 15 km/h से अधिक होनी ऊर्जा चाहिए |
  3. इसके उपयोग के लिए सचायक सेलों की भी सुविधा होनी चाहिए |

(b) जल विद्युत ऊर्जा :

  1. ये भी ऊर्जा के  नवीकरणीय  स्रोत है |
  2. जल विधुत जल से उत्पन्न होती है |
  3. इसकी लागत कुछ सीमा तक महगी है |

प्रश्न 13: ऐसे दो ऊर्जा स्रोतों के नाम लिखिए जिन्हें आप समाप्य मानते है | अपने चयन  के लिए तर्क दीजिए |
उत्तर –

कोयला एव पेट्रोलियम के वे स्रोत है जो समापन योग्य है | इनके भण्डार प्रक्रति में सीमित है एव एक ना एक दिन अवश्य समाप्त हो जायेगे | इन ईधन को निर्मित होने में करोड़ो वषों का समय लगा | अत : इन्हें पुन : निर्मित करना असम्भव है |

प्रश्न 14. गर्म जल प्राप्त करने के लिए हम सौर जल तापक का उपयोग किस दिन नहीं कर सकते-
(a) धुप वाले दिन
(b) बादलों वाले दिन
(c) गरम दिन
(d) पवनों (वायु) वाले दिन
उत्तर :
(b) बादलों वाले दिन |

प्रश्न 15. निम्नलिखित में से कौन जैवमात्रा ऊर्जा स्रोत का उदाहरण नहीं है?
(a) लकड़ी

(b) गोबर गैस
(c) नाभिकीय ऊर्जा
(d)  कोयला
उत्तर :
(c) नाभिकीय ऊर्जा |

प्रश्न 16. जितने ऊर्जा स्रोत हम उपयोग में लाते हैं उनमें सेअधिकाश सौर ऊर्जा को निरूपित करते हैं।
निम्नलिखित में से कौन-सा ऊर्जा स्रोत अंततः सौर ऊर्जा से व्युत्पन्न नहीं है?
(a) भूतापीय ऊर्जा

(b) पवन ऊर्जा
(c) नाभिकीय ऊर्जा
(d) जैवमात्रा
उत्तर :
(c) नाभिकीय ऊर्जा |

प्रश्न 17. ऊर्जा स्रोत के  रूप में जीवाश्मी ईधनों तथा सूर्य की तुलना कीजिए और उनमें अंतर लिखिए।

उत्तर :
जीवाश्मी ईधनों : 

  1. ये समापन योग्य है |
  2. ये  ऊर्जा के महगे स्रोत है |
  3. ये ग्रीन -हाउस को भी प्रभावित करते है |

 सूर्य :

  1. यह  समापन योग्य नही है |
  2. ये  ऊर्जा के सस्ते  स्रोत है |
  3. यह उपकरण स्वच्छ उर्जा के स्रोत है |

प्रश्न 18. जैवमात्रा तथा ऊर्जा स्रोत के रूप में जल वैद्युत की तुलना कीजिए और उनमें अंतर लिखिए।
उत्तर :

जैवमात्रा :

  1. ये ऊर्जा के नवीकरणीय  स्रोत है |
  2. इसकी लागत ज्यादा नही है |
  3. बायो गैस की उत्पति के करके है |

जल विधुत :

  1. ये भी ऊर्जा के  नवीकरणीय  स्रोत है |
  2. जल विधुत जल से उत्पन्न होती है |
  3. इसकी लागत कुछ सीमा तक महगी है |

प्रश्न 19. निम्नलिखित से ऊर्जा निष्कर्षित करने की सीमाएँ लिखिए?
(a)
 पवनें
(b)  तरंगें 
(c)
  ज्वार-भाटा
उत्तर :
(a) पवनें :

  1. पवनों से ऊर्जा उन्हीँ जगहों पर पाई जाती है जहाँ वर्षा के समय तेज गति से पवने चलती हो |
  2. टरबाइनो कि गति के लिए पवनो की न्यूनतम चाल 15km/h से अधिक होनी ऊर्जा चाहिए |
  3. इसके उपयोग के लिए सचायक सेलों की भी सुविधा होनी चाहिए |

(b)  तरंगें :

  1. तरगों से उत्पन्न ऊर्जा को प्राप्त करने के लिए तरगों का प्रबल होना आवश्यक है
  2. इसका उपयोग करते समय एक – समान विधुत शक्ति प्राप्त नही की जा सकतीं है |
  3. इसके किए आवश्यक उपकरण महगे है |

(c)  ज्वार-भाटा :

  1. इस तरह की ऊर्जा प्राप्ति के लिए बाध का निमार्ण करना आवश्यक है |
  2. ज्वार-भाटा से उत्पन्न ऊर्जा  का प्रयोग सीमित है |
  3. इसके निमार्ण के लिए जमीन की लागत आधिक है |

प्रश्न 20. ऊर्जा स्रोतों का वर्गीकरण निम्नलिखित वर्गों में किस आधार पर करेंगे ?
(a) नवीकरणीय तथा अनवीकरणीय
(b)  समाप्य तथा अक्षय
क्या (a) तथा (b)के विकल्प समान हैं?
उत्तर :
(a)  नवीकरणीय ऊर्जा वे ऊर्जा होती है जिनका उपयोग हम लंबे समय तक आसीमित रूप से कर सकते है | इसका भंडार अक्षय रहता है | जैसे : सौर ऊर्जा और पवन ऊर्जा |
अनवीकरणीय ऊर्जा वे ऊर्जा होती है जिनका उपयोग यदि हम एक बार कर लेते है तो उनकी पुनः प्राप्ति नहीं की जा सकती है और इनका भंडार समाप्य रहता है | जैसे : जीवाश्मी ईंधन ( कोयला , पैट्रॉल , प्राकृतिक गैस )|
(b)  (a) और (b) के विकल्प सामान है क्योंकि  नवीकरणीय ऊर्जा अक्षय है परन्तु  अनवीकरणीय ऊर्जा समाप्य है |

प्रश्न 21. ऊर्जा के आदर्श स्रोत में क्या गुण होते हैं?
उत्तर :
 
ऊर्जा के आदर्श स्रोत के गुण :-

  1. सरलता से प्राप्त हो सके |
  2. सस्ता भी होना चहिए |
  3. प्रति एकाक आयतन एव द्रव्यमान अधिक कार्य करे |

प्रश्न 22. सौर कुकर का उपयोग करने के क्या लाभ तथा हानियाँ हैं? क्या ऐसे भी क्षेत्र हैं जहाँ सौर कुकरों की सीमित उपयोगिता है?
उत्तर :
सौर कुकर का उपयोग करने के लाभ : 

  1. यह उपकरण सस्ता है |
  2. इसका उपयोग करने से प्रदुषण नही होती है |
  3. इनमे कोई गतिमान पुर्जा नही होता है |

सौर कुकर की हानियाँ :

  1. ये उपकरण केवल सूर्य के प्रकाश में ही इसका उपयोग किया जाता है |
  2. यह भोजन पकाने में sय अधिक लेता है |

हां , ऐसे अनेक  क्षेत्र है  सौर -सेल महगे होते है |  जहाँ सौर कुकरों की सीमित उपयोगिता है उदाहरण : अधिक बरसात वाले क्षेत्र , पहाड़ी  क्षेत्र आदि |

प्रश्न 23. ऊर्जा की बढ़ती माँग के पर्यावरणीय परिणाम क्या हैं? ऊर्जा की खपत को कम करने के  उपाय लिखिए।
उत्तर :

आज का युग मशीनी युग हो गया है आज की जनसंख्या जीवाश्म ईधन पर्यावरण को प्रदुषण करने के लिए उपयोग करती है | सौर-सेल को उपयोग करने से  पर्यावरणीय सभव है | अनेक प्रकार कि बीमारियाँ बढ़ रही है |
ऊर्जा की खपत को कम करने के  उपाय निम्न है :-

  1. कोयला , जीवाश्म ईधन का कम से कम उपयोग |
  2. मशीनों पर निर्भर  न रहकर स्वय पर  निर्भर  रहना |
5/5 - (1 vote)
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

close button