NCC क्या है | एनसीसी कैसे ज्वाइन करें

Share It

NCC का पूरा नाम National Cadet Corps है। जिसे हिंदी में राष्ट्रीय कैडेट कोर के नाम से भी जाना जाता है। राष्ट्रीय कैडेट कोर अर्थात एनसीसी का एक ही लक्ष्य है चरित्र का निर्माण करना, अनुशासन बरकरार रखना और लोगों में भावना का विकास करना है। साथ ही एनसीसी का एक मुख्य कार्य यह है कि यह स्कूल कॉलेज के विद्यार्थियों को खास करके उन विद्यार्थियों को जो भारतीय वायु सेना में आगे चलकर काम करना चाहते हैं उनको प्रशिक्षित करते हैं।

आज हम आपको NCC के बारे में विस्तार से बताएंगे कि NCC Kya Hai और NCC Kaise Join Kare तथा इसके साथ साथ हम आपको NCC Ke Fayde तथा NCC Certificate Ke Fayde भी विस्तार से बताएंगे परंतु आप हमारी पोस्ट को आगे तक पढ़ते रहिए गा तभी आपको सब कुछ समझ में आ पाएगा।

NCC Kya Hai – What Is NCC In Hindi?

NCC kya Hai NCC Kaise Join KareNCC के संबंध में कहा जाता है कि इसकी स्थापना पंडित हृदयनाथ कुंजरू द्वारा किया गया था। पंडित हृदयनाथ जी का कहना था कि भारत देश में सेना के लिए काम करने वाले लोगों को और भी ज्यादा प्रशिक्षित करने के लिए एक राष्ट्रीय स्तर परसैनिक छात्र संघ स्थान होने ही चाहिए और बस इन्हीं के सुझाव पर ही एनसीसी का गठन कर दिया गया।

कहा जाता है कि आजादी के बाद ही 16 अप्रैल 1948 को एनसीसी की स्थापना कर दी गई थी। सन 1948 में जब एनसीसी की स्थापना की गई थी उस वक्त एनसीसी में कुल छात्र जो भर्ती हुए थे। उनकी संख्या 20 हजार के आसपास थी और आज वर्तमान समय में एनसीसी में लगभग तेरह लाख से ज्यादा लोगों नेएनसीसी के संस्थानों से प्रशिक्षण प्राप्त किया है और ज्यादा से ज्यादा लोगों ने प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद भारतीय वायु सेना को खुद को समर्पित कर दिया है।

एनसीसी कि सभी संगठन एक ही बात कहती है एकता और अनुशासन क्योंकि एकता और अनुशासन एनसीसी का मुख्य लक्ष्य है। एकता और अनुशासन जैसे सिद्धांत को 12 अक्टूबर 1980 से लागू किया गया था ताकि एनसीसी में आने वाले सभी विद्यार्थी संस्थान के सभी नियमों एवं कानून को बड़े ही अनुशासन के साथ एवं जब भी वह काम करें तो पूरी एकता के साथ मिलकर काम करें।

हर साल नवंबर के चौथे रविवार को एनसीसी राष्ट्रीय कैडेट दिवस मनाया जाता है।

एनसीसी जब शुरु-शुरु में आरंभ हुआ था तो उन लोगों का गीता कदम मिला कर चल लेकिन अब उनका गीत बदल चुका है और अभी जो उनका गीत है उस गीत का नाम है हम सब भारतीय हैं।

एनसीसी के नियम (Rules of NCC in Hindi)

NCC के कुछ खास नियम है। एनसीसी के सभी नियमों को मुस्कुराहट के साथ अपनाना। बिना किसी गलती के मार्ग में आने वाले सभी प्रशिक्षण को पास करना एवं कठिन परिश्रम करके जीवन में आगे बढ़ना।झूठ बोलना एनसीसी के नियमों के बिलकुल खिलाफ है और बेवजह बहाने बनाना भी एनसीसी के नियमों के खिलाफ माना जाता है।

एनसीसी का उद्देश्य (Main Goal of NCC in Hindi)

  • सबसे पहला और मुख्य लक्ष्य तो एनसीसी का है कि विद्यार्थियों में अनुशासन बना कर रखना। एनसीसी का हर एक विद्यार्थी जानता है कि भाईचारे की भाषा क्या होती है, अनुशासन क्या होता हैऔर बिना किसी स्वार्थ के लोगों की मदद कैसे करना चाहिए सब एनसीसी द्वारा सिखाया जाता है।
  • एनसीसी विद्यार्थियों में Leadership quality को Developed करता है। ताकि विद्यार्थी जीवन में किसी भी कैरियर में हो तो वह वहां पर सफल हो।
  • एनसीसी के माध्यम से बहुत से विद्यार्थी को प्रेरणा मिलती है कि वह भारतीय सेना को अपने जीवन में ज्वाइन करने का निर्णय तक ले लेते हैं।

NCC Kaise Join Kare – How To Join NCC In Hindi?

  • एनसीसी में कुल 3 साल का परीक्षण दिया जाता है। A,B and C तीन स्तर पर होती है। पहला स्तर A,दूसरा स्तर B और तीसरा स्तर C है। इन तीनों स्तर को पास करने के बाद विद्यार्थियों को एक सर्टिफिकेट दिया जाता है।
  • एनसीसी को ज्वाइन करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि एनसीसी को ज्वाइन करने वाला व्यक्ति भारत का नागरिक होना चाहिए। यदि आप नेपाल के भी नागरिक है तो आप एनसीसी को ज्वाइन कर सकते हैं।
  • दूसरी बात आप किसी स्कूल कॉलेज के विद्यार्थी होने चाहिए तभी आप एनसीसी को ज्वाइन कर सकते हैं यदि आपको यह पढ़ाई लिखाई से जुड़े संस्थान से जुड़े नहीं हैं तो आप एनसीसी जॉइन नहीं कर सकते हैं।
  • एनसीसी को ज्वाइन करने की जो आयु सीमा है वह 12 साल से लेकर 26 साल के अंदर है।
  • यदि आप फिजिकली फिट है तो आप एनसीसी में आराम से जा सकते हैं। यदि आप शारीरिक रूप से अस्वस्थ रहते हैं तो आप कभी भी एनसीसी को ज्वाइन नहीं कर सकते हैं। यदि हल्के-फुल्के शारीरिक रोग ठीक है लेकिन कुछ अगर ज्यादा बड़ा रोग है तो आप कभी भी एनसीसी को ज्वाइन नहीं कर सकते हैं।

एनसीसी के 2 मुख्य भाग होते हैं जैसे-

  • Junior division or junior wing
  • Senior division or senior wing

जूनियर डिवीजन और सीनियर डिवीजन पुरुष कैडेट के लिए प्रयोग होते हैं और जूनियर विंग और सीनियर विंग  महिला कैडेट के लिए प्रयोग होते हैं।

Junior division- इस डिवीजन के लिए आपकी आयु सीमा 12 -18 वर्ष होनी ही चाहिए। यदि अनुमान लगाया जाए तो कक्षा 9वी एवं 10वीं में पढ़ने वाले छात्र एवं छात्राएं इस डिवीजन के अंतर्गत आते हैं। इस डिवीजन की पढ़ाई कुल 2 साल की होती है।

Senior division- सीनियर डिवीजन में जो भी बच्चे आते हैं वे सभी कक्षा ग्यारहवीं से लेकर कॉलेज में पढ़ने तक के बच्चे होते हैं। इनकी आयु 18 वर्ष से लेकर 26 वर्ष के अंतर्गत होती है। सीनियर डिवीजन की पढ़ाई कुल 3 साल तक की होती है।

एनसीसीमें ज्वाइन होने के लिए क्या करे – NCC Join Karne Ke Liye Kya Kare

अब बात करते हैं कि कैसे पता चलेगा कि आप स्कूल या कॉलेज में है तो आपके स्कूल या कॉलेज में एनसीसी में भर्ती होने की कोई प्रक्रिया है कि नहीं।यदि आप स्कूल में पढ़ते हैं तो आप अपने स्कूल के प्रिंसिपल से एनसीसी के संबंध में बात कर सकते हैं। स्कूल के प्रिंसिपल की मदद से आप स्कूल में पढ़ते पढ़ते ही एनसीसी को ज्वाइन कर सकते हैं।

वही हम यदि कॉलेज की बात करें तो हर कॉलेज में एनसीसी होता है। इसके लिए आपको आपके कॉलेज के एनसीसी ऑफिसर या अपने किसी ऐसे सीनियर से बात करना होगा जो कि खुद एनसीसी में भाग लिया हुआ है और आपको वह व्यक्ति ही अच्छी तरीके से गाइड कर सकता है कि आप कैसे एनसीसी में भाग ले सकते हैं।

एनसीसी को ज्वाइन करने के लिए आपको किसी सरकारी स्कूल या कॉलेज मैं पढ़ने की आवश्यकता नहीं है आपका स्कूल सरकारी हो या आपका कॉलेज प्राइवेट हो कोई फर्क नहीं पड़ता यदि आप सभी आयु सीमा एवं योग्यता के काबिल है तो एनसीसी का दरवाजा आपके लिए खुला हुआ है।

बहुत से लोग ऐसे हैं जो कि डिस्टेंस मोड पर अपने कॉलेज की पढ़ाई करते हैं तो ऐसे विद्यार्थियों के लिए भी कोई बाध्यता नहीं है कि आप डिस्टेंस मोड पर पढ़ाई करते तो आप एनसीसी ज्वाइन नहीं कर सकते आप भी ज्वाइन कर सकते हैं बस आपका कालेज प्रसिद्ध एवं रजिस्टर्ड होना चाहिए।

एनसीसी में दाखिल होने के लिए आपको एनसीसी द्वारा लिए गए परीक्षा में पास होना पड़ेगा। उसके बाद आपका इंटरव्यू लिया जाएगा यदि आपके ऊपर इंटरव्यू के दौरान इंटरव्यू लेने वाले व्यक्ति का शक होता है तो वह आपका मेडिकल टेस्ट भी करवा सकते हैं।

NCC Certificate Ke Fayde  – Benefits Of NCC Certificate in Hindi

एनसीसी सर्टिफिकेट का बहुत अधिक फायदा है। कहा जाता है कि एनसीसी सर्टिफिकेट के माध्यम से आपको भविष्य में स्कॉलरशिप की सुविधा भी प्राप्त हो सकती है। उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए एनसीसी का सर्टिफिकेट आपके लिए बहुत लाभकारी साबित हो सकता है।

हमारे भारत देश के वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी भी एनसीसी के छात्र रह चुके हैं। जो छात्र मेडिकल के क्षेत्र में जाना चाहते हैं उनके लिए एनसीसी का सर्टिफिकेट बहुत अधिक लाभकारी साबित हो सकता है।साथ ही यदि आप भविष्य में भारतीय सेना में जाना चाहते हैं तो एनडीए के परीक्षा में भी आपको इनसे सीखिए सर्टिफिकेट के कारण कुछ हद तक छूट मिल सकता है।

एनसीसी सर्टिफिकेट के कारण आपको NDA के मेडिकल से छुटकारा मिल सकता है लेकिन यदि आपको पैरों में आंखों में कोई दिक्कत है तो शायद इन सब चीजों से आपको एनसीसी का सर्टिफिकेट नहीं बचा सकता है।

एनसीसी यूनिफार्म (Uniform of NCC)

टीवी पर अक्सर देखा गया है कि जो भी लोग एनसीसी से जुड़े होते हैं उन्हें खाकी वाले कपड़े पहनने होते हैं।

कहा जाता है कि एनसीसी के छात्र अलग-अलग कपड़े पहनते हैं जैसे- सेना के लिए लाल खाकी वाले कपड़े, नौसेना के लिए नील कपड़े एवं वायु सेना के लिए हल्की नीली कपड़े।

NCC Ke Fayde – Benefits Of NCC In Hindi

एक तरह से यदि कहा जाए तो एनसीसी को ज्वाइन करने से किसी का कोई नुकसान नहीं है बल्कि फायदा ही फायदा है। पहला फायदा यह है कि बच्चे यदि स्कूल जाते ही कक्षा 9वी एवं 12वीं से एनसीसी को ज्वाइन कर लेते हैं तो उन्हें एक प्रेरणा मिलेगी और वह भारतीय सेना को अपने कैरियर के रूप में चुन सकते हैं।

दूसरा 12 साल की उम्र में कैसे उम्र होती है जहां पर बच्चे किसी की नहीं सुनना चाहते हैं ऐसे समय में यदि वे एनसीसी ज्वाइन करेंगे तो वह अपने जीवन में अनुशासन भाईचारे दोनों को बहुत अच्छे से समझ जाएंगे और एनसीसी का जो मुख्य लक्ष्य है अनुशासन एवं एकता इन दोनों बात को वह कभी नहीं भूलेंगे।

जिन लोगों को स्कूल के समय एनसीसी जॉइन करने का मौका नहीं मिला था यदि वे लोग कॉलेज में आकर एनसीसी ज्वाइन करते हैं तो उनके जीवन में बहुत सारे बदलाव आएंगे और भविष्य में एनसीसी के कारण ही उन्हें बहुत सारे लाभ भी प्राप्त होंगे यदि वे उच्च शिक्षा ग्रहण करना चाहे तो ग्रहण कर सकते हैं इसके लिए एनसीसी के सर्टिफिकेट के कारण उन्हें स्कॉलरशिप की सुविधा भी मिल सकती है।

एनसीसी पूरे भारत में बहुत ही अच्छा भूमिका निभा रहा है। इसलिए भारत के हर 12 से 26 वर्ष के आयोग के हर बच्चे को एनसीसी क्या है इस विषय में जानकारी देते हुए उन्हें भी एनसीसी ज्वाइन करना चाहिए ताकि वह भी एनसीसी के विषय में जाने तथा उनके प्रशिक्षण को पास कर के एक अच्छे कैरियर को चुन सके और अपने जीवन में सफल बन सके।

Conclusion

उम्मीद है कि आपको हमारी यह पोस्ट बहुत ही पसंद आई होगी इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको NCC के बारे में बताया है हमारी इस पोस्ट के माध्यम से आपको पता लग चुका होगा कि NCC Ke Fayde तथा NCC Kaise Join Kare और हमने आपको NCC Certificate Ke Fayde भी बताए हैं कि आपको इस सर्टिफिकेट से कितना ज्यादा फायदा हो सकता है, यदि अब भी NCC से संबंधित कोई भी प्रश्न आपके मन में है, तो आप उनसे कमेंट सेक्शन में जरूर पूछें, हम आपको उसका जवाब जल्द से जल्द देने की कोशिश करेंगे।

करियर से जुड़े इन पोस्ट को भी पढ़े :-

5/5 - (10 votes)

Share It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close button