Diploma In Ayurvedic Pharmacy Kaise Kare और Eligibility For Diploma In Ayurvedic Pharmacy In Hindi

0

आज इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको जानकारी देंगे कि Diploma in Ayurvedic pharmacy Kaise Kare तथा Ayurvedic Pharmacy Kya Hai तथा Diploma in Ayurvedic pharmacy Ke Fayde और Diploma in Ayurvedic Pharmacy Ke Baad Kitni Salary Mil Sakti Hai, Diploma in Ayurvedic pharmacy Ke Baad Kya Kare, Ayurvedic Pharmacy Kya Hai, Ayurvedic pharmacy Me Career Kaise Banaye.

जैसा कि आप सब लोग जानते हैं कि आज के टाइम में सभी अपने कैरियर को उज्जवल बनाने के लिए अलग-अलग तरीके के कोर्स करते हैं| सभी यही चाहते हैं कि उन्हें अच्छी नौकरी मिले जिसे करके छात्र अच्छे पैसे कमा सकें | यदि आप आयुर्वेदिक फार्मेसी में अपना कैरियर बनाना चाहते है तो आपके लिए यह  बहुत ही बेहतर ऑप्शन है|

भारतीय आयुर्वेद सिस्टम बहुत ही पुराना है आयुर्वेद के जरिए ही हमारे शरीर को बहुत सी बीमारियों से राहत मिलती है | आयुर्वेदिक दवाइयां हमारे शरीर को लंबे समय तक स्वस्थ रखती है और बीमारी को जड़ से खत्म करती है| डिप्लोमा इन आयुर्वेद में  करने के बाद आपके पास बहुत से जोब ऑप्शन आपको  मिल जाते हैं| भारत में बहुत से ऐसे जंगल ( Forest ) है जहां पर 10000 से भी ज्यादा आयुर्वेदिक प्लांट है जिनसे बहुत सारी मेडिसिन, स्किन प्रोडक्ट्स बनाए जाते हैं|

Ayurvedic pharmacy Kya Hai – What Is Ayurvedic Pharmacy In Hindi

अगर कोई भी छात्र आयुर्वेद में फार्मेसी करता है तो उसको पुराने समय से लेकर अब तक की सारे आयुर्वेद की जानकारी दी जाती है| सन 1969 में Indian government द्वारा इंडियन मेडिसिन तथा होमियोपैथी रिसर्च के लिए Central counselling की स्थापना की गई थी| आयुर्वेदिक दवाई खाने से कोई नुकDiploma in Ayurvedic pharmacy in hindi Diploma In Ayurvedic Pharmacy Kaise Kareसान नहीं होता है| आयुर्वेदिक दवाइयों के सेवन से कोई साइड इफेक्ट भी नहीं होते हैं| आयुर्वेद में बहुत सी पुरानी से पुरानी बीमारी का इलाज भी किया जाता है|आयुर्वेदिक् दवाई खाने से  सबसे बड़ा फायदा यह होता हैं कि यह बीमारी को जड़ से और धीरे-धीरे खत्म करती  है| यह कोर्स 2 साल का होता है|  इस कोर्स को करने के बाद आपकी आप किसी भी सरकारी या प्राइवेट सेक्टर में जॉब कर सकते हैं| इसके अंतर्गत आप अपनी आयुर्वेदिक शॉप भी खोल सकते हैं।

यह कोर्स करने के बाद आप किसी भी कॉलेज में नौकरी कर सकते हैं|  आयुर्वेदिक फार्मेसी कोर्स theory तथा practical  दो सेक्शन में डिवाइड होता है| इस कोर्स के अंतर्गत आयुर्वेद फॉर्मूलेशन और आयुर्वेदिक दवाइयां कैसे बनती है |क्वालिटी चेक कैसे की जाती है| और दवाई को स्टोर करके कैसे रखा जाता है| इन सब के बारे में जानकारी दी जाती है| इसके अलावा दवाई dispensing, Ayurveda raw material की भी जानकारी दी जाती है | तथा इस कोर्स के अंतर्गत आपको बहुत से सेमिनार अटेंड करने होते हैं आयुर्वेद पर डिस्कशन करनी होती है| और आयुर्वेद के ऊपर स्टडी करनी होती है | और प्रेजेंटेशन बनानी होती है|

Course Highlights for Ayurvedic pharmacy

1) Diploma in ayurvedic pharmacy

2) Diploma course

3) Course duration – 2 years

4) Eligibility – 12th passed

5) Admission process – Entrance exam and Merit base

6) Course फीस upto 1 Lakh

7) Job position – Pharmacist, quality control Engineer

8) Placement opportunities After This Course – Emami, Himalaya, Baidyanath, Vasu Healthcare zandu,The Arya baidya sala, Multani ban labs ltd, Shankar pharmacy|

9) Average salary – 2.30 Lakh per annum

10) Age – Minimum 15 years

Diploma In Ayurvedic Pharmacy Ke Liye Yogyata – Eligibility criteria for Ayurvedic pharmacy In Hindi

आयुर्वेदिक फार्मेसी करने के लिए आपको  किसी मान्यता प्राप्त कॉलेज से 12th पास करनी होगी तथा 50% मार्क्स लाने होंगे| तथा  कई  इंस्टिट्यूट ऐसे हैं जहां पर minimum  क्वालीफिकेशन 10th होती है|  आयुर्वेदिक फार्मेसी में कोर्स करने के लिए छात्र की आयु 15 year होनी चाहिए| यह कोर्स 2 साल का होता है।

Admission process Of Diploma In Ayurvedic Pharmacy In Hindi

किसी भी कॉलेज तथा इंस्टीट्यूट में ऐडमिशन लेने के लिए सभी कॉलेज का अपना अलग-अलग एडमिशन प्रोसेस होता है| कई  कॉलेज ऐसे हैं जिनमें मेरिट बेस के आधार पर एडमिशन होते हैं| तथा कई कॉलेज ऐसे हैं जिनमें एडमिशन के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम देने होते हैं, परंतु यदि आप किसी प्राइवेट कॉलेज से यह करना चाहते हो तो आप आसानी से किसी भी प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं परंतु सरकारी कॉलेज में आपको बिना एंट्रेंस एग्जाम दिए दाखिला नहीं मिलता, इसलिए उसके लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम पास करना होता है और सिर काउंसलिंग के दौरान आप किसी भी अच्छे कॉलेज का चयन कर सकते हैं।

Some important documents for Admission in Diploma in Ayurveda pharmacy course

 आयुर्वेदिक फार्मेसी कोर्स में एडमिशन के लिए जरूरी दस्तावेज

 आयुर्वेदिक फार्मेसी में  डिप्लोमा करने के लिए कॉलेज द्वारा कुछ दस्तावेज चाहिए होते हैं|

1) Proof of date of birth

2) School leaving certificate

3) Transfer Certificate

4) Mark sheet and pass certificate of 10th and 12th class

5) Domicile certificate / Residential Certificate

6) Provisional Certificate

7) Character Certificate

8) Proof of disability

9) Migration Certificate

10) Scheduled Caste / Other backward caste certificate

Ayurvedic pharmacy Course preparation Tips

डिप्लोमा इन फार्मेसी में करने के लिए सबसे पहले आपको कोर्स को अच्छे से जानना होगा| अच्छे से टाइम टेबल बनाना होगा|

स्टडी करने के लिए एक प्रॉपर प्लान बनाना होगा| जिसकी सहायता से आप टाइम टू टाइम अपनी पढ़ाई कर सकें|

आयुर्वेद के बारे में गहराई से जानने के लिए आपको ज्यादा से ज्यादा कोर्स cours की प्रैक्टिस करनी होगी| एंड ज्यादा प्रैक्टिस करने से आपको दवाइयों के बारे में गहराई तक नॉलेज प्राप्त हो जाएगी|

Main courses for Ayurveda field

 आयुर्वेद की फील्ड में कुछ प्रमुख कोर्स होते हैं| जैसे –

1) Graduation level course

1) Bachelor of Ayurvedic Medicine & Surgery

2) Bachelor of Sidh medicine & Surgery

2) Post graduate level course

1) Master of business administration in ayurvedic Pharmacy (MBA)

2) Doctor of Medicine in ayurvedic( MD)

3) Master of surgery in ayurvedic (MS)

3) Doctoral Degree level course

1) Master of Philosophy in Ayurveda Sidhant (M.Phill)

2)Doctor of philosophy in Ayurveda (Phd)

Specialization field in Ayurveda

1) काया चिकित्सा (kaya chikitsa )  – Internal Medicine  ( इंटरनल मेडिसिन)

2) शल्य चिकित्सा (Shalya chikitsa )-  surgery ( सर्जरी)

3)  बाल चिकित्सा –  पेडियाट्रिक्स

4) ग्रह  चिकित्सा –  भूत विद्या –  सैक्राइटी

5)  आंख नाक कान गले और सिर का इलाज

6) अगद चिकित्सा – टॉक्सिकोलॉजी

7) जर चिकित्सा – रसायन –  गैरोंटोरोलॉजी

Diploma In Ayurvedic Pharmacy Ki Fees Kitni Hoti Hai – Fees Structure Of Diploma In Ayurvedic Pharmacy In Hindi

किसी भी कॉलेज में आयुर्वेदिक फार्मेसी के लिए स्टेट के एकोडिंग अलग अलग फीस स्ट्रक्चर होता है|  अगर आप किसी भी सरकारी कॉलेज से इस कोर्स को करते हैं तो इस कोर्स की फीस कम रहती है तथा किसी प्राइवेट कॉलेज से अगर छात्र इस कोर्स को  करते हैं तो सरकारी कॉलेज  के मुकाबले आपको कम फीस पे करनी होती है |  किसी भी इंस्टिट्यूट से यह कोर्स करने पर छात्र  फीस 40000 to 1 lakh तक हो सकती है |

 किसी भी कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए फीस स्ट्रक्चर किन्ही मुख्य बातों पर निर्भर करता है| जैसे

1) College Location

2) Types of college

3) Rating and status of the college

4) Scholarship status

Syllabus for Diploma in Ayurvedic pharmacy course

1) Introduction to Ayurveda  (इंट्रोडक्शन टू आयुर्वेद)

2) Introduction to Sanskrit ( डिडक्शन टू संस्कृत)

3) Pharmaceutical Chemistry ( फार्मास्यूटिकल केमिस्ट्री)

4) Pharmaceutical Analysis ( फार्मास्यूटिकल एनालिसिस )

5) Physical pharmacy (  फिजिकल फार्मेसी)

6) Pharmaceutical Biology( फार्मास्यूटिकल बायोलॉजी)

7) Sareera kriya vijnanam

8) Pharmacognosy

9) Patho physiology ( पैथॉफिजियोलॉजी)

10) Pharmaceutical Engineering ( फार्मास्यूटिकल इंजीनियरिंग)

11) Pharmacology( फार्मोकोलॉजी)

12) Industrial pharmacy( इंडस्ट्रियल फार्मेसी)

13) Pharmacognosy (Advanced)

14) Rasasastra

15) Bhaishajya kalpana

16) Toxicology ( टॉक्सिकोलॉजी)

17) First Aid (  फर्स्ट एड)

Top college / Institute  for Diploma in Ayurvedic pharmacy 

1) Desh bhagat Ayurvedic college and hospital, Punjab (देश भगत आयुर्वैदिक कॉलेज एंड हॉस्पिटल )|

2) Delhi Degree college, Haryana ( दिल्ली डिग्री कॉलेज )|

3) Punjab para medical science,punjab  ( पंजाब पैरामेडिकल साइंस )|

4) Pragyan international university, Jharkhand  ( प्रज्ञान इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी )|

5) International institute of Education and research, Rajasthan ( इंटरनेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ एजुकेशन एंड रिसर्च )|

6) DS institute of Paramedical science, Uttar pradesh ( डीएस इंस्टीट्यूट ऑफ पैरामेडिकल साइंस)|

7) Sanjeevani institute of pharmacy,Punjab  ( संजीवनी इंस्टिट्यूट ऑफ़ फार्मेसी )|

8) Shri balaji institute of Medical and paramedical science, Haryana ( श्री बालाजी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एंड पैरामेडिकल साइंस)|

9) Uttaranchal unani medical college and hospital, Uttarkhand ( उत्तरांचल युनानी मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल)|

10) Bharat institute of paramedical technology, New Delhi (  भारत इंस्टीट्यूट ऑफ पैरामेडिकल टेक्नोलॉजी )|

11) Indian institute of Ayurvedic pharmaceutical sciences, Gujarat  (  इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ आयुर्वैदिक Ayurvedic फार्मास्यूटिकल साइंस )|

Diploma In Pharmacy Ke Baad Kitni Salary Milti Hai

जब आप यह कोर्स कर लेते हैं तो उसके पश्चात आपके पास नौकरी के काफी सारे अवसर निकल कर आ जाते हैं, यदि आप किसी कॉलेज में पढ़ाना चाहते हैं तो आप पढ़ा भी सकते हैं क्योंकि इसके पश्चात आपको अच्छी जानकारी हो जाती है, और यदि आप नौकरी नहीं करना चाहते आगे पढ़ना चाहते हैं तो आप आगे पढ़ भी सकते हैं।

आप आयुर्वेदिक फार्मेसी में ग्रेजुएशन भी कर सकते हैं या फिर आयुर्वेदिक फार्मेसी में मास्टर डिग्री भी हासिल कर सकते हैं, जिसके पश्चात आपको और भी ज्यादा अच्छी नौकरी मिल पाएगी और या फिर आप अपना बिजनेस भी कर सकते हैं, वैसे हम नीचे आपको बता देते हैं कि किस प्रकार की नौकरी और सैलरी आपको मिल सकती है :-

1) Ayurveda Specialist  ( आयुर्वेद स्पेशलिस्ट) –  per annum salary 2 to 4 lakh

2) Marketing specialist  ( मार्केटिंग स्पेशलिस्ट ) – per annum – 4 lakh to 6 lakh

3) Medical representative (  मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव )- per annum 2 lakh to 3 lakh

4) Quality control engineer ( क्वालिटी कंट्रोल इंजीनियर ) – per annum 3 lakh to 4 lakh

5) Pharmacist ( फार्मासिस्ट ) – per annum 2lakh to  3lakh

6) Professors ( प्रोफेसर)  – per annum 2 lakh to 4 lakh

Here are some Ayurveda company – कुछ आयुर्वेदिक कंपनियां जहां पर हम नौकरी कर सकते हैं

 आयुर्वेदिक कंपनियां निम्न प्रकार की हैं|

1) Emami ( इमामी )

2) Vasu healthcare (  वासु हेल्थ केयर )

3) Zandu (झंडू )

4) Ban Labs ( बन लैब्स )

5) shankar pharmacy (  शंकर फार्मेसी )

6) Patanjali ( पतंजलि)

Conclusion –

हम आशा करते हैं कि आपको हमारी यह पोस्ट बहुत ही पसंद आई होगी इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको आयुर्वेदिक फार्मेसी के बारे में संपूर्ण जानकारी दी है जैसे कि आप जानते हैं कि आयुर्वेद के द्वारा बहुत पुराने समय से लोगों का इलाज किया जाता है और आयुर्वेद के द्वारा उन बीमारियों का इलाज भी किया जा सकता है जिन बीमारियों का साइंस के पास भी कोई इलाज नहीं है इसलिए यदि आप डॉक्टर बनने में रुचि रखते हैं तो आप आयुर्वेदिक डॉक्टर भी बन सकते हैं,

इस पोस्ट के माध्यम से हमने जाना कि Diploma in Ayurvedic pharmacy Kaise Kare तथा Ayurvedic Pharmacy Kya Hai तथा Diploma in Ayurvedic pharmacy Ke Fayde और Diploma in Ayurvedic Pharmacy Ke Baad Kitni Salary Mil Sakti Hai? Diploma in Ayurvedic pharmacy Ke Baad Kya Kare? Ayurvedic Pharmacy Kya Hai? Ayurvedic pharmacy Me Career Kaise Banaye? यदि आप भी आयुर्वेदिक फार्मेसी से संबंधित कोई प्रश्न आपको पूछना हो, तो कमेंट सेक्शन में कमेंट अवश्य करें हम आपको जवाब जरूर देंगे।

इन कोर्स के बारे मे भी पढे :-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here