HomeScienceमापने की इकाइयां मात्रक प्रकार | Unit of Measurement in Hindi

मापने की इकाइयां मात्रक प्रकार | Unit of Measurement in Hindi


आज के इस पोस्ट के जरिये जानेगे मापने की इकाइयां Unit of Measurement in Hindi कौन कौन सी है,

मापने की इकाइयां

Unit of Measurement in Hindi

Unit of Measurement in Hindi

किसी भी मात्रा को या चीज़ को जिस भी शब्द से बताया जाता है उसे उसका मात्रक कहते हैं, जैसे लंबाई का मात्रक मीटर है !

तो चलिये अब इस पोस्ट के जरिये जानेगे मापने की इकाइयां Unit of Measurement in Hindi कौन कौन सी है, जानते है

मात्रक एवं मापन

राशि ( Quantity) : जिसे संख्या के रूप में प्रकट किया जा सके, उसे राशि कहते हैं । जैसे- जनसंख्या, आयु, वस्तु का भार, मेज की लंबाई आदि ।

भौतिक राशियां ( Physical Quantities)

भौतिकी के नियमों को जिन्हें राशियों के पदों में व्यक्त किया जाता है, उन्हें भौतिक राशि कहते हैं । जैसे- वस्तु का द्रव्यमान, लंबाई, बल, चाल दूरी, विद्युत धारा, घनत्व आदि ।

भौतिक राशियां के प्रकार

भौतिक राशियां दो प्रकार की होती है – अदिश तथा सदिश

(1) अदिश ( Scalars) –

वे भौतिक राशियाँ, जिनमें केवल परिमाण होता है, दिशा नहीं होती उन्हें अदिश कहा जाता है। जैसे- द्रव्यमान, घनत्व, तापमान, विद्युत धारा, समय, चाल, आयतन, कार्य आदि ।

(2) सदीश ( Vectors) –

वे भौतिक राशियाँ जिनमें परिमाण के साथ-साथ दिशाएँ भी होती है और जो योग के निश्चित नियमों के अनुसार जोड़ी जाती है, उन्हें सदिश कहा जाता है । जैसे- वेग, विस्थापन, बल, रेखीय संवेग, कोणीय विस्थापन, कोणीय वेग, त्वरण, बल आघूर्ण, चुंबकीय क्षेत्र प्रेरण, चुंबकीय क्षेत्र तीव्रता, चुम्बकन तीव्रता, चुंबकीय आघूर्ण, विद्युत तीव्रता, विद्युत धारा घनत्व, विद्युत ध्रुव आघूर्ण, विद्युत ध्रुवण, चाल प्रवणता,ताप प्रवणता आदि ।

माप के मात्रक/ इकाई ( Units of Measurement)

किसी राशि के मापन के निर्देश मानक को मात्रक कहते हैं अर्थात किसी भी राशि की माप करने के लिए उसी राशि के एक निश्चित परिमाण को मानक मान लिया जाता है और उसे कोई नाम दे दिया जाता है ,इसी को उस राशि का मात्रक कहते है, किसी दी हुई राशि की उसके मात्रक से तुलना करने की क्रिया को मापन कहते हैं ।

मात्रक के प्रकार

मात्रक दो प्रकार के होते हैं – (१) मूल मात्रक (२) व्युत्पन्न मात्रक ।

(1) मूल मात्रक ( Fundamental Units)

किसी भौतिक राशि को व्यक्त करने के लिए कुछ ऐसे मानकों का प्रयोग किया जाता है, जो अन्य मानकों से स्वतंत्र होते हैं, इन्हें मूल मात्रक कहते हैं । जैसे- लंबाई, समय और द्रव्यमान के मात्रक क्रमश: मीटर, सेकंड एवं किलोग्राम मूल इकाई है,

(2) व्युत्पन्न मात्रक ( Derived Units)

किसी भौतिक राशि को जब दो या दो से अधिक मूल इकाइयों में व्यक्त किया जाता है, तो उसे व्युत्पन्न ईकाई कहते हैं । जैसे- बल, दाब, कार्य एवं विभव के लिए क्रमश: न्यूटन, पास्कल, जूल एवं वोल्ट व्युत्पन्न मात्रक है ।

मात्र पद्धतियां ( System of Units in Hindi)

भौतिक राशियों के मापन के लिए निम्नलिखित 4 पद्धतियां प्रचलित है –

(1) CGS पद्धति ( Centimetre Gram Second System)

इस पद्धति में लंबाई, द्रव्यमान तथा समय के मात्रक क्रमश: सेंटीमीटर, ग्राम और सेकंड होते हैं । इसलिए इसे CGS पद्धति कहते हैं । इसे फ्रेंच या मीट्रिक पद्धति भी कहते हैं ।

(2) FPS पद्धति ( Foot Pound Second System)

इस पद्धति में लंबाई, द्रव्यमान तथा समय के मात्रक क्रमश: फुट, पाउंड और सेकंड होते हैं । इसे ब्रिटिश पद्धति भी कहते हैं ।

(3) MKS पद्धति ( Metre Kilogram Second System)

इस पद्धति में लंबाई, द्रव्यमान और समय के मात्रक क्रमशः मीटर, किलोग्राम और सेकंड होते हैं ।

(4) अंतर्राष्ट्रीय मानक पद्धति ( S.I. Units)

सन् 1960 ईस्वी में अंतरराष्ट्रीय माप- तौल के अधिवेशन में SI को स्वीकार किया गया । वास्तव में ,यह पद्धति MKS पद्धति का ही संशोधित एवं परिवर्तित रूप है । आजकल इसी पद्धति का प्रयोग किया जाता है । इस पद्धति में 7 मूल मात्रक तथा दो संपूरक मात्रक हैं ।

SI Unit के 7 मूल मात्रक

(1) लंबाई का मूल मात्रक ‘मीटर’

SI में लंबाई का मूल मात्रक मीटर है । 1 मीटर वह दूरी है, जिसे प्रकाश निर्वात् में 1/299792458 सेकंड में तय करता है ।

(2) द्रव्यमान का मूल मात्रक ‘किलोग्राम’

फ्रांस के सेवरिस नामक स्थान पर माप तोल के अंतरराष्ट्रीय माप-पौल ब्यूरों में सुरक्षित रखें प्लेटटिनम- इरीडियम मिश्रधातु के बने हुए बेलन के द्रव्यमान को मानक किलोग्राम कहते हैं । इसे संकेत में किग्रा(kg) लिखते हैं ।

(3) समय का मूल मात्रक ‘सेकंड’

सीजीएम 133 परमाणु की मूल अवस्था के दो निश्चित ऊर्जा स्तरों के बीच संक्रमण से उत्पन्न विकिरण के 9192631770 आवर्तकालों की अवधि को 1 सेकंड कहते हैं । आइंस्टीन ने अपने प्रसिद्ध ‘सापेक्षता का सिद्धांत’ में समय को चतुर्थ विमा के रूप में प्रयुक्त किया है ।

(4) विद्युत धारा का मूल मात्रक “एंपियर”

यदि दो लंबे और पतले तारों को निर्वात् में 1 मीटर की दूरी पर एक दूसरे के समांतर रखा जाए और उनमें ऐसे परिमाण की समान विद्युत धारा प्रवाहित की जाए जिसे तारों के बीच प्रति मीटर लंबाई में 2×10^-7 न्यूटन का बल लगने लगे तो विद्युत धारा के उस परिमाण को एक एंपियर कहा जाता है । इसका प्रतीक A है ।

(5) ताप का मूल मात्रक “केल्विन”

जल के त्रिक बिंदु के उष्मागतिक ताप के 1/273.16 भाग को केल्विन कहते हैं । इसका प्रतीक K होता है ।

(6) ज्योति- तीव्रता का मूल मात्रक “कैण्डेला”

किसी निश्चित दिशा में किसी प्रकाश स्रोत की ज्योति तीव्रता 1 कैण्डेला तब कहीं जाती है जब यह स्रोत उस दिशा में 540×10^12 हर्ट्ज का तथा 1/683 वाट / स्टीरेडियन तीव्रता का एकवर्णीय प्रकाश उत्सर्जित करता है ।

(7) पदार्थ की मात्रा का मूल मात्रक “मोल”

एक मोल, पदार्थ की वह मात्रा है जिसमें उसके अवयवी तत्वों(परमाणु, अणु ) की संख्या 6.023×10^23 होती है । इस संख्या को ऐवोगाड्रो नियतांक कहते हैं ।

मात्रक कैसे निर्धारित हुए

मूल मात्रक 1971 में माप और तौल की अन्तर्राष्ट्रीय समिति द्वारा पदार्थ की मात्रा की मूल राशि मानते हुए मोल को इसका मूल मात्रक निर्धारित किया गया। इस प्रकार सात भौतिक राशियों लम्बाई, समय, द्रव्यमान, विद्युत धारा, ताप, ज्योति तीव्रता और पदार्थ की मात्रा को ‘मूल राशियाँ’ कहते है।

SI Unit के 2 सम्पूरक मात्रक

(1) रेडियन (Radian)

किसी वृत्त की त्रिज्या के बराबर लंबाई के चाप द्वारा उसके केंद्र पर बनाया गया कोण 1 रेडियन होता है । इस मात्रक का प्रयोग समतल पर बने कोणों को मापने के लिए किया जाता है ।

(2) स्टेरेडियन( Steradian)

किसी गोले की सतह पर उसकी त्रिज्या के बराबर भुजा वाले वर्गाकार क्षेत्रफल द्वारा गोले के केंद्र पर बनाए गए घन कोण को एक स्टेरेडियन कहते हैं । यह ठोसीय कोणों को मापने का मात्रक है ।

मूल मात्रक (Fundamental Units)

भौतिक राशि SI मात्रक/ इकाई प्रतीक/ संकेत
लंबाई मीटर m
द्रव्यमान किलोग्राम kg
समय सेकंड s
विद्युत धारा एंपियर A
ताप केल्विन K
ज्योति तीव्रता कैण्डेला cd
पदार्थ की मात्रा मोल mol

संपूरक मात्रक (Supplementary Units)

समतल कोण रेडियन rad
ठोसीय कोण स्टेरेडियन sr

प्रमुख व्युत्पन्न मात्रक ( Derived Units)

भौतिक राशि राशि की परिभाषा SI मात्रक
क्षेत्रफल Length Square m^2
आयतन Length Cube m^3
घनत्व Mass per Unit Volume kg/m^3
चाल Distance Travelled per Unit Time m/s
वेग Displacement per Unit Time m/s
त्वरण Change in Velocity per Unit Time m/s^2
बल द्रव्यमान ×त्वरण kg.m/s^2
संवेग द्रव्यमान ×वेग   kg.m/s
आवेग बल× समय अंतराल N×s
दाब Force per Unit Area N/m^2 = pa( पास्कल )
कार्य या ऊर्जा बल× दूरी N×m = जूल
शक्ति Work Done/ Time Taken J/s= watt( वाट)

 

दस के विभिन्न घातों के प्रतीक

(Symbols for Various Powers of 10)

भौतिकी में बहुत छोटी और बहुत बड़ी राशियों के मानों को 10 के घात के रूप में व्यक्त किया जाता है । 10 के कुछ घातों को विशेष नाम तथा संकेत में व्यक्त करते हैं, जो निम्नलिखित है –

10 के घात नाम प्रतीक 10 के घात नाम प्रतीक
10^18 एक्सा E 10^-18 एटो   a
10^15 पेटा P 10^-15 फेम्टो f
10^12 टेरा T 10^-12 पिको p
10^9 गीगा G 10^-9 नैनो n
10^6 मेगा M 10^-6 माइक्रो u
10^3 किलो k 10^-3 मिली m
10^2 हेक्टो h 10^-2 सेन्टी c
10^1 डेका da 10^-1 डेसी D

मापने की इकाइयां

लंबाई (Length)

1 माइक्रोमीटर = 1000 नैनोमीटर

1 मिलीमीटर = 1000 माइक्रोमीटर

1 सेंटीमीटर   = 10 मिलीमीटर

1 मीटर = 100 सेंटीमीटर

1 डेकामीटर =10 मीटर

1 हेक्टोमीटर = 10 डेका मीटर

1 किलोमीटर = 10 हेक्टोमीटर

1 मेगा मीटर = 1000 किलोमीटर

1 नॉटिकल मील = 1852 मीटर मात्रा

मात्रा

1 सेंटीलीटर   = 10 मिलीलीटर

1 डेसी लीटर = 10 सेंटीलीटर

1 लीटर = 10 डेसीलीटर

1 डेका लीटर = 10 डेसीलीटर

1 हेक्टोलीटर = 10 डेका लीटर

1 किलो लीटर = 10 हेक्टोलीटर क्षेत्र

क्षेत्र

1 वर्ग फुट = 144 वर्ग इंच

1 वर्ग यार्ड = 9 वर्ग फीट

1 एकड़ = 4840 वर्ग गज

1 वर्गमील = 640 एकड़

क्षेत्रफल (Area)

1 वर्ग सेंटीमीटर = 100 वर्ग मिलीमीटर

1 वर्ग डेसीमीटर = 100 वर्ग सेंटीमीटर

1 वर्ग मीटर = 100 वर्ग डेसीमीटर

1 एकड़ = 100 वर्ग मीटर

1 हेक्टेयर = 2.471 एकड़

1 वर्ग किलोमीटर = 1000 हेक्टेयर

भार

1 ग्राम = 1000 मिलीग्राम

1 डेकाग्राम = 10 ग्राम

1 हेक्टोग्राम = 10 डेकाग्राम

1 किलोग्राम =      10 हेक्टोग्राम

1 क्विंटल = 100 किलोग्राम

1 टन = 1000 किलोग्राम

दूरी

1 फीट = 12 इंच

1 मील = 1760 यार्ड

1 फर्लाग = 10 चेन

1 यार्ड (गज) = 3 फीट

1 मील = 8 फर्लाग

नॉटिकल / समुद्री दूरी (Nautical/Nautical Distance)

1 फैदम = 6 फीट

1 केबुल लेंथ = 100 फैदम

1 नॉटिकल मील = 6080 फीट

लंबाई /दूरी के मात्रक

1 किलोमीटर = 1000 मीटर

1 मील = 1.60934 किमी

1 नाविक मील = 1.852 किमी

1 खगोलीय ईकाई = 1.495×10^11 मी.

1 प्रकाश वर्ष = 9.46×10^15 मी. ( 48612 A.U)

1 पारसेक = 3.08×10^16 मी. ( 3.26 प्रकाश वर्ष )

द्रव्यमान के मात्रक

1 आउन्स = 28.35 ग्राम

1 पाउण्ड = 16 आउंस ( 453 .52 ग्राम )

1 किलोग्राम = 2.205 पाउंड या 1000 ग्राम

1क्विंटल = 100 किलोग्राम

1 मीट्रिक टन = 1000 किलोग्राम

समय के मात्रक

1 मिनट = 60 सेकंड

1 घंटा = 60 मिनट (3600 सेकंड )

1 दिन = 24 घंटे

1 सप्ताह = 7 दिन

1 चंद्रमास = 4 सप्ताह =28 दिन

1 सौर मास = 30 या 31 दिन (फरवरी 28 या 29 दिन )

1 वर्ष = 13 मात्रकास 1 दिन = 12 सौर मास= 365 दिन

1 लीप वर्ष = 366 दिन

क्षेत्रफल के मात्रक

1 एकड़ = 4840 वर्ग गज ( 43560 वर्ग फुट )( 4046.94 वर्ग मीटर )

1 हेक्टेयर = 2.5 एकड़

1 वर्ग किलोमीटर = 100 हेक्टेयर

1 वर्ग मील = 2.6 वर्ग किलोमीटर ( 256 हेक्टेयर ) (640 एकड़ )

आयतन के मात्रक

1 लीटर = 1000 घन सेंटीमीटर ( 0.2642 गैलन)

1 गैलन = 3.785 लीटर

खगोलीय ईकाई (A.U) यह दूरी का मात्रक है । सूर्य और पृथ्वी के बीच की मध्य दूरी खगोलीय इकाई कहलाती है ।

1 A.U.= 1.495×10^11 metres

प्रकाश वर्ष

यह दूरी का मात्रक है । एक प्रकाश वर्ष निर्वात् में प्रकाश के द्वारा 1 वर्ष में चली गयी दूरी है, जो 9.46×10^15 मीटर के बराबर होती है ।

पारसेक

यह दूरी मापने की सबसे बड़ी इकाई है ।

(1 parsec= 3.08×10^16 m)

मात्रक से जुड़े प्रमुख तथ्य

Key facts about the unit in Hindi

  • भौतिकी में बहुत छोटी और बहुत बड़ी राशियों के मानों को दस की घात के रूप में व्यक्त किया जाता है। उदाहरण के लिए, पृथ्वी और सूर्य के बीच की औसत दूरी 14,950 करोड़ मीटर है। इसे 1.495 x 1011 मीटर लिखना अधिक सुविधाजनक है।
  • प्रकाशवर्ष (Light Year): प्रकाशवर्ष दूरी का मात्रक है। एक वर्ष में प्रकाश द्वारा तय की गई दूरी को एक ‘प्रकाशवर्ष’ कहते हैं। 1 प्रकाशवर्ष = 9.46 x 1015 मी.
  • ऐम्पियर: यदि दो लम्बे और पतले तारों को निर्वात में 1 मीटर की दूरी एक-दूसरे के समानान्तर रखा जाए और उनमें ऐसे परिमाण की समान विद्युत धारा प्रवाहित की जाए जिससे तारों के बीच प्रति मीटर लम्बाई में 2 x 10-7 न्यूटन का बल लगने लगे, तो विद्युत धारा के परिमाण को 1 ऐम्पियर कहा जाता है।
  • ताप का मूल मात्रक केल्विनः जल के त्रिक् बिन्दु (Tripple point) के ऊष्मागतिक ताप के 1/273.16 वें भाग को एक केल्विन कहते हैं। इसका प्रतीक K है। इसके आगे डिग्री नहीं लगाते हैं। उदाहरण के लिए, 10K लिखा जाएगा, 10°K लिखना अब अशुद्ध माना जाता है।
  • जल का त्रिक बिन्दु वह ताप है जिस पर बर्फ, जल तथा जलवाष्प तीनों ही तापीय सन्तुलन (Thermal equilibrium) में रहते हैं।
  • ज्योति-तीव्रता का मूल मात्रक कैण्डेला: किसी निश्चित दिशा में किसी प्रकाश स्रोत की ज्योति-तीव्रता 1 कैण्डेला तब कही जाती है जब यह स्रोत उस दिशा में 540 x 1012 हर्टज़ आवृत्ति का तथा – वाट स्टेरेडियन तीव्रता का एकवर्णीय (Monochromatic) प्रकाश उत्सर्जित करता है।
  • वाट (Watt) शक्ति (Power) का मात्रक है और स्टेरेडियन घन कोण का मात्रक है।
  • पदार्थ की मात्रा (Amount of Substance) का मूल मात्रक मोल: यह पदार्थ के परिमाण का मात्रक है, परन्तु ध्यान रहे कि यह द्रव्यमान का मात्रक नहीं है।

तो आपको यह पोस्ट मापने की इकाइयां Unit of Measurement in Hindi कैसा लगा कमेंट मे जरूर बताए और इस पोस्ट को लोगो के साथ शेयर भी जरूर करे…

5/5 - (2 votes)

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Career

Most Popular

Categories

Jobs

ITI course kya hai ITI kaise kare

ITI Course क्या है | आईटीआई कोर्स कैसे करे

0
यदि आप आईटीआई (ITI) करना चाहते है और आपके मन में आईटीआई (ITI) को लेकर कोई भी सवाल है तो आज हम इस Post...
Artificial Intelligence Kya Hai Artificial Intelligence Ke Fayde Aur Nuksan

Artificial Intelligence क्या है | Artificial Intelligence के फायदे और नुकसान

0
आज का युग बहुत ही टेक्नोलॉजी वाला युग है और आज के युग में Automatic Machine का उपयोग बहुत अधिक होने लग गया है,...
RTO Officer Kaise Bane Eligibility For RTO Officer In Hindi

आरटीओ ऑफिसर कैसे बने ? आरटीओ ऑफिसर बनने के लिए योग्यता और इसकी तैयारी...

0
हम आज बात करने वाले हैं, की RTO Officer Kaise Bante Hai, RTO Officer Kya Hai, RTO Officer Banne Ke Liye Qualification तथा RTO...
Diploma In Health Inspector Course Kaise Kare Health Inspector Kaise Bane

Diploma In Health Inspector Course कैसे करे | हेल्थ इंस्पेक्टर कैसे बने

2
जैसा कि आप सब लोग जानते हैं कि आजकल के टाइम में पढ़ाई का कितना महत्व है, पढ़ाई के बिना हम कुछ नहीं कर...
Railway ki Tyari kaise karein in Hindi

रेलवे परीक्षा की तैयारी कैसे करे

0
यदि आप Railway ki Naukri करना चाहते है और आपके मन में Railway ki Naukri को पाना चाहते है or railway ki Naukri ko...
D. Pharma Kya Hai D. Pharma Course Kaise Kare

D. Pharma Course क्या है | डी फ़ार्मा कोर्स कैसे करे

0
इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको जानकारी देंगे कि D. Pharma Kya Hai, D. Pharma kaise Kare, D.Pharma Course Karne Ke Liye Yogyata? D.Pharma...
Bank me job kaise paye Bank Me Nokri Ke Liye Kya kare

बैंक में जॉब कैसे पाए | बैंक में नौकरी के लिए क्या तैयारी करे

0
आज की इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि बैंक में जॉब के लिए क्या करे (What to do to get a job in...
VDO Officer Kya Hota Hai VDO Officer Kaise Bane

ग्राम विकास अधिकारी कैसे बने? | VDO Officer Ki Taiyari Kaise Kare

0
आज हम इस पोस्ट मे आपको बताने वाले हैं, की VDO Officer Kya Hota Hai, (What Is VDO Officer In Hindi), VDO Ki Full...
close button