NGO Kya Hai? Apna NGO Kaise Banaye

आज हम आपको बताने वाले हैं कि NGO Kya Hai, Apna NGO Kaise Banaye, NGO Ko Fund Kaha Se Milta Hai, NGO Ke Liye Document आज इन के बारे में हम विस्तार से जानेंगे.

हमारे भारत देश में आज बहुत हीं ऐसे गरीब और बहुत ही बेसहारा लोग भी है, जो लोग गरीबी  का शिकार है वहीं आज के समय़़ में  जहाँ पर इंसानियत बहुत कम ही बची होगी,  NGOs Organization फ़रिश्ते से कम नहीं है, NGO Organization  अपने फायदे के बारे में बिना सोचे इन लोगों की सहायता करते है।

NGO Kya Hota Hai ( What Is NGO In Hindi )

NGO Kya Hai Apna NGO Kaise Banayeयदि आप भी NGO शुरू करना चाहते हैं तो आपके पास एनजीओ के बारे में संपूर्ण जानकारी होना बहुत आवश्यक है तभी आपको पता लगेगा कि Apna NGO Kaise Khole,

NGO Ki Full Form होती है – “Non-Governmental Organization

NGO एक प्राइवेट ऑर्गेनाइजेशन होती है। NGO के माध्यम से लोगों की सहायता करके सामाजिक काम किया जाता है जिसमें कई प्रकार के अलग-अलग काम किये जाते है, जैसे- NGO विधवा महिलाओ के लिए आवास प्रदान करता है, गरीब अनाथ बच्चों को पढ़ाता लिखाता है, महिलाओ की सुरक्षा करता है आदि। इस Organization में हमारे देश की सरकार कोई भूमिका नही निभाती।

समाज कल्याण ही NGO Ke Uddeshya है। यह एक ऐसी ऑर्गेनाइजेशन है जिसको कोई भी व्यक्ति चला सकता है। NGO का विकास USA में किया गया था क्योंकि USA में ऐसे बहुत से समाज कल्याण के कार्य किये जाते है जो सरकार के द्वारा नहीं किए जाते  बल्कि NGO के द्वारा किये जाते है।

NGO Ka Matlab तो आप समझ ही गए होंगे, अब हम जानते है की NGO जो भी काम करता है उसका काम करने का तरीका क्या हैं।

NGO Kaise Kam Karta Hai

यदि आप यह सोच रहे हैं कि कोई एक व्यक्ति NGO को चलाता है, तो हम आपको बता दें कि ऐसा बिल्कुल भी नहीं है, NGO को चलाने के लिए 7 या 7 से अधिक व्यक्ति की आवश्यकता होती है, NGO खुद का फायदा ना देखते हुए समाज का फायदा देखते हैं,

यदि किसी व्यक्तियों का Group सामाज कल्याण कार्य या सामाज सुधार का कार्य करना चाहता है तो वह व्यक्ति Registered या बिना Register NGO के माध्यम से इन कामों को कर सकता है, परंतु Registered NGO होने पर फायदा यह मिलता है की आप सामाज कल्याण के लिए जो काम कर रहे है उस काम के लिए आप सरकार से आर्थिक सहायता भी मांग सकते है।

यदि आप सरकार की सहायता के बिना ही समाज कल्याण करना चाहते हैं तो आप Non Registered NGO भी चला सकते हैं, इंडिया में लगभग दो लाख NGO है,

एन जी ओ कभी भी एक अकेले व्यक्ति के द्वारा नहीं चलाया जाता NGO को व्यक्तियों का पूरा समूह चलाता है, और समाज कल्याण में सहायता करता है, अब तो आपको अच्छे से समझ आ गया होगा कि NGO Kaise Kaam Karta Hai.

NGO Ke Kaam ( What Is NGO Work ) NGO Ke Karya

हमने आपको एनजीओ के बारे में जहां तक अभी बताया उससे आपको यह तो पता लग ही गया होगा कि NGO Kaise Kaam Karta Hai

Ngo के माध्यम से ऐसे काम किये जाते है, जिनसे गरीब – बेसहारा लोगों की आवश्यकताएं पूरी की जा सके और सिर्फ गरीब लोग और बेसहारा लोग ही नहीं बल्कि ऐसे और भी काम है जो NGO के माध्यम से किये जाते है।

क्या आपको NGO Ke Karya के बारे में बिल्कुल भी जानकारी नहीं है की इस ऑर्गेनाइजेशन में क्या कार्य किये जाते है ? तो आगे हम जानेंगे कि यह ऑर्गेनाइजेशन क्या करती है।

पूरी दुनिया में Ngo विभिन्न तरह के समाज कल्याण और मानव कल्याण के उद्देश्यों से काम करते है। यह संगठन विकास की दिशा में कार्य करते है और समाज में Positive Changes लाते है।

NGO का काम जरुरतमंद लोगों की सहायता करना होता है। यह गरीब और बेसहारा लोगों के दुःख को समझते है, वह इस प्रकार के बहुत सारेउन लोगों को ढूंढ ही लाते हैं जो इनके साथ-साथ गरीब लोगों की भी सहायता  कर सके। NGO का  कार्य पैसे कमाना नही होता यह लोगों की सहायता करने का काम करती है। और यही NGO Ki Visheshta भी होती है।

वैसे तो NGO द्वारा कई तरह के काम किये जाते है परंतु इसका मुख्य उद्देश्य सामाज कारणों पर काम करना होता है।

Purpose Of NGOs

गरीब और अनाथ बच्चों को शिक्षा प्रदान करना।

School में गरीब बच्चों को अच्छा भोजन दिलवाना।

गरीब और बेसहारा बच्चों को Books Provide करना।

जिन महिलाओं का कोई भी सहारा नहीं है उन महिलाओं को आवास देना।

आदिवासी समाज की समस्या का हल करना भी एनजीओ का काम है

समाज में भिन्न भिन्न प्रकार की बीमारियों से जूझ रहे लोगों की मदद करना भी  एनजीओ का काम है।

यदि बूढ़ी मां बाप को  कोई घर से निकाल देता है तो उनको  एनजीओ सहारा देता है।

तो यह सब है NGO Ke Kaam इन सभी कामों में NGO Ki Bhumika महत्वपूर्ण होती है।

Ngo Kaise Banaye (Ngo Starting Process In Hindi)

यदि आप Ngo बनाना चाहते है तो उसके लिए आपको पहले Ngo ऑर्गेनाइजेशन बनाने के नियम को अच्छी तरह समझना होगा। क्योंकि यह नियम सभी राज्य के हिसाब से अलग-अलग होते है। इन नियमों के अनुसार ही आप Ngo बना सकते है।

तो आइए चलिए जानते है Ngo Kaise Banta Hai

NGO में कार्य करने के लिए आपको Ngo का Member बनना होगा। आप Ngo के पंजीकरण के समय ही इसके मेंबर भी बन सकते है। Ngo की स्थापना के लिए कम से कम 7 सदस्य होना आवश्यक है।

Ngo के निर्माण के लिए आपको इसके उद्देश्य को तय करने के साथ ही इसके अध्य़क्ष, उपाध्यक्ष, स़चिव, कोषाध़्यक्ष, सलाह़कार सदस़्य आदि सदस्य तय करने होते है। इन सभी सदस्यों से मिल़कर ही NGO की संरच़ना बनती है।

Ngo को शुरू करने से पहले आपको सभी लोगों की परेशानियों को पहचानना होगा और उसी के हिसाब से अपने एनजीओ के उद्देश्य को लेकर समाज के सामने आना होगा अनुसार NGO में काम किया जाता है।

बहुत से लोग अपनी परेशानियों के लिए आवाज़ नहीं उठा सकते। उनकी परेशानियां कोई भी नहीं सुनता, इसलिए किसी भी NGO का मुख्य उद्देश्य यही होना चाहिए की वह सभी बेसहारा और गरीब लोगों की परेशानियों को सुने, और समझे समझे और फिर उसी के हिसाब से अपने NGO को स्टार्ट करे तभी आपके द्वारा चलाए गए NGO का सकारात्मक प्रभाव दिखाई देता है।

NGO को शुरू करने के लिए आप ऐसे लोगों का समूह बनाये जो सभी कामों को एक सही रणनीति से जिसमें Financial Management, HR और Networking जैसे सभी तरह के कामों को कर सके और उन सभी निर्णय को लेने के लिए पूरी तरह से रिस्पांसिबल व्यक्ति हो सके। अब आपने जान लिया होगा कि की NGO Kaise Banaya Jata Hai.

NGO Ke Liye Document

यदि आप एक एनजीओ शुरू करना चाहते हैं तो आपके पास आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर कार्ड, पासपोर्ट, रेजिडेंट सर्टिफिकेट, रजिस्टर्ड ऑफिस एड्रेस, Affidavit From President.

एक एनजीओ खोलने के लिए आपको इन सभी डॉक्यूमेंट की आवश्यकता होगी।

एनजीओ खुले के लिए आपको एक बैंक अकाउंट भी अपने एनजीओ के नाम पर खुलवाना पड़ेगा, ताकि यदि कोई भी व्यक्ति आपके एनजीओ के लिए डोनेशन देना चाहता है, तो मैं उस अकाउंट में दे सके इसीलिए एनजीओ के नाम पर बैंक अकाउंट खुलवाना अति आवश्यक है।

Ngo Ko Fund Kaise Milta Hai

यदि आप भी एक एनजीओ चलाना चाहते हैं और आप यह सोच रहे हैं कि NGO Ko Fund Kaise Milta Hai तो हम आपको कुछ टिप्स बता रहे हैं आपने फॉलो कीजिए

Create NGO Website

यदि आप एनजीओ की शुरुआत करना चाहते हैं तो आपको अपने एनजीओ की एक वेबसाइट भी बनानी चाहिए और उस वेबसाइट पर आपको बताना चाहिए कि आपकी एनजीओ का मुख्य उद्देश्य क्या है, जब आप अपनी वेबसाइट बनाएंगे, तो इससे लोगों के बीच में आपके एनजीओ की पहचान बनेगी, और आप अपनी वेबसाइट पर डोनेट का ऑप्शन भी लगाइए ताकि यदि कोई भी व्यक्ति आपके एनजीओ के लिए डोनेशन देना चाहे, तो वह आपके NGO अकाउंट में डायरेक्ट आ जाए.

Organizing Program –

आप अपने एनजीओ को शुरु करने के पश्चात प्रोग्राम कर सकते हैं, और उस प्रोग्राम में किसी सेलिब्रिटी या किसी नेता को भी बुला सकते हैं और अपने एनजीओ के मुख्य उद्देश्य को बता सकते हैं, इससे भी लोगों को बहुत प्रेरणा मिलेगी और वह आपके NGO चलाने में आपकी मदद करेंगे.

Contact Private Companies –

आप प्राइवेट कंपनियों से भी संपर्क कर सकते हैं बहुत सी प्राइवेट कंपनियां हैं जो कि समाजसेवी कार्य करती हैं, आप उनसे कांटेक्ट कर सकते हैं और अपने एनजीओ के उद्देश्य बता सकते हैं, ऐसा करने से भी आपको एनजीओ चलाने में प्राइवेट कंपनियों से काफी मदद मिल जाएगी.

आशा है कि आप का मन है पोस्ट बहुत ही पसंद आई होगी इस पोस्ट के माध्यम से अपने आपको बताया कि NGO Kya Hai, NGO Kaise Khole, NGO Kaise Chalaye, NGO Me Fund Kaha Se Aata Hai इन सब विषय पर हमने आज विस्तार से चर्चा की यदि फिर भी आपको कुछ समझ में ना आया हो तो आप हमसे कमेंट सेक्शन के माध्यम से पूछ सकते हैं।

और भी विभिन्न प्रकार के कैरियर के जानकारी के लिए इन पोस्ट को भी पढे :– 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *